Good News: कार खरीदने की सोच रहे हैं तो जरूर पढ़ें ये खबर baki aur bhi khabrein zee news & A.K.I. News ke saath(Zee News.india.com) (A.K.I. News)

Good News: कार खरीदने की सोच रहे हैं तो जरूर पढ़ें ये खबर baki aur bhi khabrein zee news & A.K.I. News ke saath (Zee News.india.com) (A.K.I. News)

ZEE NEWS BREAKING: Headlines of 17 December 2019 | ZEE NEWS BREAKING: पढ़ें आज की सुर्खियां...

 

https://zeenews.india.com/hindi/business/respite-for-auto-industry-union-minister-prakash-javadekar-hints-at-gst-rate-cut-for-vehicles/741500?utm_source=Facebook&utm_medium=Social&utm_campaign=FB-Messenger&utm_content=BN-%20September%2005th%202020%2C%2007%3A24%20am

(News Website Link)

https://zeenews.india.com/hindi/world/video/chinas-military-helping-pakistan-amidst-india-china-tension/740759?minutetv=true         (News Website Link)

Good News: कार खरीदने की सोच रहे हैं तो जरूर पढ़ें ये खबर baki aur bhi khabrein zee news & A.K.I. News ke saath (Zee News.india.com) (A.K.I. News)

भारी उद्योग मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि सरकार सभी तरह के वाहनों पर जीएसटी रेट में कटौती करने की ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री की मांग पर विचार कर रही है और इस बारे में बहुत जल्द घोषणा की जाएगी.

Good News: कार खरीदने की सोच रहे हैं तो जरूर पढ़ें ये खबर

नई दिल्लीः ऑटो इंडस्ट्री को बड़ी राहत मिलने वाली है. शुक्रवार (4 सितंबर) को केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर (Prakash Javadekar) ने ऑटो इंडस्ट्री के लिए अच्छे संकेत दिए हैं. भारी उद्योग मंत्री (The Heavy Industries Minister) प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि सरकार सभी तरह के वाहनों पर जीएसटी रेट में कटौती करने की ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री की मांग पर विचार कर रही है और इस बारे में बहुत जल्द घोषणा की जाएगी. उन्होंने GST को लेकर कहा, ”हम जीएसी घटाने के बारे में फिलहाल सहमत नहीं हो सकते, लेकिन इसका मतलब अंतिम भी नहीं है.” जावड़ेकर ने ये बातें ​ऑटो इंडस्ट्री के संगठन सियाम (SIAM) के एक कार्यक्रम में कही हैं.

जावड़ेकर ने भरोसा दिया कि जीएसटी (Goods and Services Tax) में अस्थायी कटौती की इंडस्ट्री की मांग के बारे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण से बात करेंगे. उन्होंने कहा, ”वित्त मंत्रालय इस प्रस्ताव की विस्तृत रूपरेखा तैयार कर रहा है. दुपहिया, तिपहिया, पब्लिक ट्रांसपोर्ट और चौपहिया वाहनों पर चरणबद्ध तरीके से राहत मिलनी चाहिए. उम्मीद है कि आपको जल्दी ही खुशखबरी मिलेगी.”

सस्‍ती हो सकती हैं गाड़ियां
केंद्रीय मंत्री ने एक कार्यक्रम में कहा कि वित्त मंत्रालय इस प्रस्ताव की रूपरेखा तैयार कर रहा है. दुपहिया (Two-wheelers), तिपहिया (Three wheelers), पब्लिक ट्रांसपोर्ट और चौपहिया वाहनों पर फेज वाइज तरीके से राहत मिल सके. जानकारी के लिए बता दें कि मौजूदा वक्त में गाड़ियों पर 28 फीसदी जीएसटी लगता है. वाहन उद्योग ने इसे घटाकर 18 फीसदी करने की मांग की थी. पिछले माह वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने टू व्हीलर्स पर जीएसटी रेट में कटौती करने का संकेत दिया था और अब जावड़ेकर ने भी संकेत दिए हैं. ऐसे में अगर आप मोटरसाइकिल या कोई भी वाहन खरीदने का प्लान बना रहे हैं तो आपके लिए राहत भरी खबर है. क्योंकि केंद्र सरकार सभी तरह के व्हीकल्स पर जीएसटी रेट में 10 फीसदी कटौती करने पर विचार कर रही है.

कोविड-19 को लेकर भारी उद्योग मंत्री ने कहा कि कोरोना से हर व्यक्ति और हर क्षेत्र प्रभावित हुआ है. सरकार के खजाने पर भी इसका असर हुआ है और उद्योगों को मदद करने की उसकी क्षमता प्रभावित हुई है. उन्होंने कहा कि भारतीय वाहन उद्योग ने वैश्विक स्तर पर अपनी पहचान बनाई है और अब उसे आत्मनिर्भर भारत की ओर बढ़ते हुए निर्यात बढ़ाने पर ध्यान देना चाहिए.

                                       

                                     

ZEE NEWS BREAKING: Headlines of 17 December 2019 | ZEE NEWS BREAKING: पढ़ें आज की सुर्खियां...

India China Standoff : चीन को और झटका, आर्मी के बाद अब ITBP ने हासिल किए पेंगोंग झील के पास नए महत्वपूर्ण मोर्चे

कुल मिलाकर देखें तो अब हेलमेट टॉप, ब्लैक टॉप और येलो बंप पर आर्मी, आईटीबीपी और स्पेशल फ्रंटियर फोर्स (SFF) की मोर्चेबंदी हो गई है और उन्हें सभी इन जगहों से सीधे चीन

ITBP

हाइलाइट्स:

  • आर्मी के बाद ITBP के जवानों ने पूर्वी लद्दाख में कमाल कर दिखाया है
  • ITBP ने पेंगोंग झील के दक्षिणी छोर पर स्थित कई महत्वपूर्ण पॉजिशन हासिल कर लिए
  • करीब 5 हजार मीटर की ऊंचाई पर स्थित दर्रे से गुजरते हुए जवानों ने यह उपलब्धि हासिल की
  • अब पूर्वी लद्दाख में कई ऐसे पॉजिशनों पर भारतीय जवान तैनात हैं जहां से चीन के सैनिक पोस्ट साफ-साफ दिखते हैं

रोहन दुआ, नई दिल्ली
पूर्वी लद्दाख स्थित पेंगोंग झील के दक्षिणी किनारे की प्रमुख चोटियों पर भारतीय सेना की मोर्चेबंदी के बाद इंडो-तिब्बत सीमा पुलिस (ITBP) के कम-से-कम 30 जवानों ने कुछ और नए और अहम मोर्चों पर झंडा गाड़ दिया। आईटीबीपी के जवानों ने रणनीतिक रूप से बेहद महत्वपूर्ण ब्लैक टॉप एरिया के पास नई जगहों पर अपनी मोर्चेबंदी कर ली। भारत के लिए यह कितनी बड़ी कामयाबी है, इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि पूर्वी लद्दाख में वास्तवितक नियंत्रण रेखा (LAC) पर तैनात चीनी सैनिकों की हर हरकत इन आईटीबीपी जवानों की साफ-साफ पकड़ में आती रहेगी।

ब्लैक टॉप पर भी भारत की मोर्चेबंदी

हमारे सहयोगी अखबार द टाइम्स ऑफ इंडिया के साथ साझा की गई विस्तृत जानकारी के मुताबिक, आईटीबीपी जवान फुरचुक ला पास (Phuchuk La Pass) से गुजरते हुए ब्लैक टॉप तक पहुंचे। फुरचुक ला पास 4,994 मीटर ऊंचाई पर स्थित है। अब तक आईटीबीपी की तैनाती सिर्फ पेंगोंग झील के उत्तरी किनारे पर स्थित फिंगर 2 और फिंगर 3 एरिया के पास धान सिंह पोस्ट पर ही हुआ करती थी।

जवानों के बीच छह दिन तक रहे ITBP के डीजीपी
आईटीबीपी के आईजी (ऑपरेशंस) एम. एस. रावत ने कहा, ‘आईटीबीपी के डीजीपी एस. एस. देसवाल ने पिछले हफ्ते जवानों के साथ छह दिन गुजारे और उन्हें एलएसी पर जिम्मेदारियों के प्रति सतर्क किया। पहली बार हम अच्छी-खासी संख्या में इन चोटियों पर मौजूद हैं।’ आईजी रावत ने भी डीजीपी देसवाल के साथ सीमा पर छह दिन का वक्त गुजारा। उनके साथ आईजी (पर्सोनल) दलजीत चौधरी और आईजी (लेह) दीपम भी थे।

देसवाल ने 23 से 28 अगस्त तक सीमा का दौरा किया और बल की कई चौकियों पर गए। इस दौरान उन्होंने ‘विपरीत परिस्थितियों में साहस का प्रदर्शन करने के लिए’ जवानों की प्रशंसा की। उन्होंने जवानों को संबोधित करते हुए कहा कि बॉर्डर आउटपोस्ट के बीच आवाजाही के लिए उन्हें अतिरिक्त वाहन मुहैया कराए जाएंगे। उन्होंने कहा कि अब पूरा जोर सड़क बनाने पर होगा ताकि आवाजाही कि लिए खच्चरों पर निर्भरता सीमित की जा सके।

http://ITBP के महानिदेशक ने चीनी सेना से लोहा लेने वाले 291 जवानों को दिया पुरस्कार

इन महत्वपूर्ण पॉजिशनों पर भारत का दबदबा

कुल मिलाकर देखें तो अब हेलमेट टॉप, ब्लैक टॉप और येलो बंप पर आर्मी, आईटीबीपी और स्पेशल फ्रंटियर फोर्स (SFF) की मोर्चेबंदी हो गई है और उन्हें सभी इन जगहों से सीधे चीन की पीपल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) के दक्षिणी छोर पर स्थित पोस्ट 4280 जबकि पश्चिम छोर पर स्थित डिगिंग एरिया और चुती चामला पर चल रही हर गतिविधी साफ-साफ दिख रही है। एक सूत्र ने कहा, ‘पीएलए के पोस्टों के ऊपर चोटियां पहले खाली थीं और उन पर किसी का कब्जा नहीं था। अब हमारे सैनिकों ने भारतीय सीमा की किलेबंदी कर दी है।’

आईटीबीपी के डीजीपी एस. एस. देसवाल ने पिछले हफ्ते जवानों के साथ छह दिन गुजारे और उन्हें एलएसी पर जिम्मेदारियों के प्रति सतर्क किया। पहली बार हम अच्छी-खासी संख्या में इन चोटियों पर मौजूद हैं।

ITBP ने किया कमाल

आईटीबीपी ने एलएसी के पास अब तक 39 से ज्यादा जगहों पर स्थाई मोर्चेबंदी कर ली है जहां इसके जवाब डटे हुए हैं। आईटीबीपी के एक सीनियर ऑफिसर ने कहा, ‘आईटीबीपी के जवान अच्छी-खासी संख्या में चुशूल और तारा बॉर्डर आउटपोस्ट्स के पास तैनात हैं। चंडीगढ़ से अतिरिक्त कंपनियां एयरलिफ्ट की गई हैं।’ आईटीबीपी ने 14 अगस्त को खुलासा किया था कि इसने अपने 21 जवानों के नाम गैलंट्री अवॉर्ड के लिए प्रस्तावित किए हैं जिन्होंने मई-जून में गलवान घाटी में चीनी सैनिकों का मुकाबला किया था।

ZEE NEWS BREAKING: Headlines of 17 December 2019 | ZEE NEWS BREAKING: पढ़ें आज की सुर्खियां...

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *